ऊबड़-खाबड़ रास्तों के लिए श्रेष्ठ मिनी-ट्रक

ऊबड़-खाबड़ रास्तों के लिए श्रेष्ठ मिनी-ट्रक

टाटा मोटर्स | Oct 29, 2018 4:57 am
शेयर: व्हाट्सएप ईमेल लिंकडीन फेसबुक ट्विटर गूगल प्लस

भारत हिमालय पर्वत श्रृंखला से घिरा है इसलिए देश के ऊबड़-खाबड़ रास्तों और पहाड़ी इलाकों से सफ़र करना बहुत मुश्किल होता है. मिनी ट्रक मार्केट में इतने सारे छोटे कमर्शियल वाहन मौजूद हैं इसलिए सभी तरह के रास्तों के लिए उपयुक्त ऐसा वाहन चुनिए जो मुश्किल सतहों पर भी आपके सफ़र को आसान बनाए.

कमर्शियल मिनी ट्रक मार्केट में टाटा मोटर्स का राज कायम है. उनके टाटा एस श्रेणी के वाहन न सिर्फ तकनीकी रूप से सही हैं बल्कि इतने मज़बूत हैं कि भारी लोड के साथ भी ऊबड़-खाबड़ रास्तों से गुज़र जाते हैं. “छोटा हाथी” की मज़बूती का प्रतीक, टाटा एस अच्छी तरह तैयार हुए उन मिनी-ट्रक्स में से एक है जो भारत की खराब सड़कों पर जमे हुए हैं.

टाटा एस के मालिकों को मेंटेनेंस में आसानी और बेहतर परिवहन सेवाओं का फायदा मिलता है. लेटेस्ट इंजिन टेक्नोलॉजी, एक्सटेंडेड बॉडी और बड़े टायर्स वाले टाटा एस, ग्रामीण सड़कों, दूर बसे इलाकों और शहर के असमान, पतले रास्तों पर ७१० किलो के अधिकतम पेलोड के साथ भी बेस्ट पर्फौर्मंस की गारंटी देता है.

मिनी ट्रक रेंज श्रेणी में, टाटा ज़िप एक्सएल, टाटा एस एचटी, टाटा एस गोल्ड, टाटा एस एक्सएल, टाटा एस मेगा, एस मेगा एक्सएल, टाटा सुपर एस मिंट, ये सब एस परिवार के कुछ लोकप्रिय वाहन हैं जिन्हें अधिकतम १ टन पेलोड के साथ विभिन्न सड़कों पर आराम से माल ले जाने के लिए भरोसेमंद कमर्शियल वाहन माना गया है. टाटा एस मिनी ट्रक्स देश भर के लाखों उद्यमियों और लोड ऑपरेटर्स के लिए एक प्रमुख व्यावसायिक साथी साबित हुआ है.

विभिन्न लोड और रोड की परिस्थितियों को संभालने में सक्षम हो ऐसा उपयुक्त कार्गो मिनी ट्रक चुनकर अपनी आमदनी और व्यवसाय को बढ़ाइएं. १६०० सर्विस पॉइंट्स और हर ५० किमी पर एक वर्कशॉप के साथ टाटा मोटर्स के पास सबसे विस्तृत सर्विस नेटवर्क है. इसलिए ख़राब सड़कों या ख़राब मौसम की वजह से वाहन बंद होने की फ़िक्र की अब आपको ज़रूरत नहीं.

ऐसे शक्तिशाली टाटा एस मिनी ट्रक्स लॉन्च करके टाटा मोटर्स भारत के कई उद्यमियों और छोटे व्यवसायों के विकास में बड़ा योगदान देता है.

हाल के लेख